शीशी गांव में जंगली हाथी ने मचाया आतंक ,Wild elephant created terror in Shishi village

0

कब्रिस्तान के चहारदीवारी को किया ध्वस्त, फसलों को भी रौंदा
कुकड़ू : सराइकेला खरसावां जिला के ईचागढ़ एवं कुकडू प्रखंड क्षेत्र में जंगली हाथियों का आतंक लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जंगली हाथी का आतंक अनुमंडल क्षेत्र के अलग-अलग प्रखंडों के गांवों में देखने को मिल रहा है। इधर कुकड़ू प्रखंड क्षेत्र के शीशी गांव में बीती रात को झुंड से बिछड़े एक हाथी ने शीशी गांव में जमकर उत्पात मचाया और शीशी गांव के कब्रिस्तान के चहारदीवारी के 70 प्रतिशत हिस्सा को ध्वस्त कर दिया। वहीं शीशी गांव के सफाउद्दीन अंसारी, कुर्बान अंसारी, दानिश अंसारी, जलाल अंसारी, तकबुल अंसारी, जाकिर अंसारी, सेराज अंसारी, नूर हसन, नासिर अंसारी समेत कई किसानों के करीब चार एकड़ भूमि में लगाये गए आलू के खेती को पूरी तरह से रौंद दिया। वहीं शीशी कब्रिस्तान के आसपास के दर्जनों पेड़ो को भी जंगली हाथी ने क्षतिग्रस्त कर दिया। इधर सभी किसानों ने रौंदे गए आलू के खेती का आंकलन कर वन विभाग से मुआवजा देने की मांग की है। मालूम हो कि बीते करीब डेढ़ महीने से जंगली हाथी अलग -अलग झुंडों में कुकड़ू, नीमडीह, ईचागढ़ एवं चांडिल प्रखंड के विभिन्न गांवों में विचरण कर रहा है। जिसके कारण ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है। वहीं वन विभाग लाख कोशिशों के वाबजूद जंगली हाथियों को खदेड़ने में नाकाम है।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)

--ADVERTISEMENT--

--ADVERTISEMENT--

NewsLite - Magazine & News Blogger Template

 --ADVERTISEMENT--

To Top