Rekha Soren - शहीद काॅमरेड मायाराम महतो महाजनी आंदोलन के जनक थे: रेखा सोरेन

0

रजरप्पा - गोला प्रखंड के पतरातू गांव में शहीद काॅमरेड मायाराम महतो का 53वां शहादत दिवस मनाया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता रामदास महतो एवं संचालन सुनील राज चक्रवर्ती ने किया. सभा को सम्मानित अतिथियों के रूप में जिला परिषद सदस्य रेखा सोरेन, ज्ञानेश्वर सिंह, झारखंड युवा मोर्चा बोकारो जिला अध्यक्ष परमानंद सोरेन, समाजसेवी लक्ष्मण महतो, उपरबरगा मुखिया जीतलाल टुडु, आलम अंसारी, जेबीकेएसएस नेत्री पूजा महतो, ललित महतो आदि ने संयुक्त रूप से संबोधित करते हुए कहा स्व. मायाराम महतो महाजनी जुल्म के विरोधी थे। महाजनों के विरोध में लोगों को गोलबंद कर जुल्म को समाप्त करने में महती भूमिका निभाई। महाजनों के गुंडों ने उनकी हत्या बोंगई (कोरिया टांड) दुलमी में कायर की तरह पीछे से वार करके की थी। महाजनी आंदोलन के जनक थे। उन्होंने कहा कि 70 के दशक में महाजनों को खदेड़ भगाने में क्षेत्र के कई लोगों ने कुर्बानी दी है। जब तक महाजनी प्रथा को समाप्त नहीं किया गया तबतक आंदोलन को जारी रखा गया। महाजन खलिहान से ही मारपीट कर जबरन बड़े वाहन में धान लोड कर अपने घर ले जाते थे। शहीदों के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता. इससे पूर्व अथितियों ने शहीद मायाराम पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया। मौके पर कार्यक्रम के संयोजक जयप्रकाश महतो, रमेश महतो, वकील सिंह, हृदय सोरेन, सुभानी अंसारी, चुन्नू महतो, वीरेन महतो, जानकी महतो, महानंद महतो, भुनेश्वर महतो, बल्कि महतो, मंजूर अली, बहादुरी करमाली, नरेश महतो, पलटन महतो, बरसा महतो, कालीनाथ महतो, बंधु महतो, गोपेश्वर महतो, संजय महतो, हरेंद्र महतो, रतन महतो, रितुलाल महतो, योगेश महतो, कमलेश करमाली, जलेबी नायक, महेश बेदिया, देवलाल महतो, बाबरी महतो, गोपाल महतो सहित सैकड़ो लोग मौजूद थे.

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)

--ADVERTISEMENT--

--ADVERTISEMENT--

NewsLite - Magazine & News Blogger Template

 --ADVERTISEMENT--

To Top