कुकड़ू में 100 दिन तक चलेगा महिलाओं के अधिकारों पर जागरूकता अभियान,Awareness campaign on women's rights will run for 100 days in Kukru

0

कुकड़ू :अनुमंडीय विधिक सेवा समिति, सरायकेला की ओर से कुकड़ू प्रखंड के बाकार कुड़ी उपर टोला गांव में महिलाओं के अधिकारों पर जागरूकता अभियान चलाया गया। इस अभियान का उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करना है।

अभियान के तहत, ग्रामीण महिलाओं को महिलाओं के अधिकारों से संबंधित कानूनों, नियमों और योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई। उन्हें बताया गया कि महिलाओं के अधिकारों का उल्लंघन होने पर वे किस तरह से अपनी सुरक्षा कर सकती हैं।

अभियान में महिलाओं को बताया गया कि उन्हें बलात्कार, दहेज उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, बाल विवाह और मानव तस्करी जैसे अपराधों के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार है। उन्हें बताया गया कि इन अपराधों के लिए शिकायत दर्ज कराने के लिए उन्हें कौन से कदम उठाने होंगे।

अभियान में ग्रामीण महिलाओं ने भी सक्रिय रूप से भाग लिया। उन्होंने अपने अनुभवों को साझा किया और अपने अधिकारों के बारे में अधिक जानने के लिए उत्सुक दिखीं।

अभियान के आयोजक PLV कार्तिक गोप ने कहा कि यह अभियान लगातार 100 दिन तक चलेगा। उन्होंने कहा कि इस अभियान के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

अभियान की मुख्य विशेषताएं:

* अभियान का उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करना है।
* अभियान में महिलाओं को महिलाओं के अधिकारों से संबंधित कानूनों, नियमों और योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई।
* अभियान में महिलाओं को बलात्कार, दहेज उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, बाल विवाह और मानव तस्करी जैसे अपराधों के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार बताया गया।
*अभियान में ग्रामीण महिलाओं ने भी सक्रिय रूप से भाग लिया और अपने अनुभवों को साझा किया।

अभियान का महत्व:

महिलाओं के अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाना बहुत महत्वपूर्ण है। महिलाओं को अपने अधिकारों के बारे में जानकर ही वे अपने अधिकारों की रक्षा कर सकती हैं। इस अभियान के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करने का प्रयास किया गया है।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)

--ADVERTISEMENT--

--ADVERTISEMENT--

NewsLite - Magazine & News Blogger Template

 --ADVERTISEMENT--

To Top